cure indigestion relief in hindi

अपच के कुछ मुख्य लक्षणों (Indigestion symptoms)में है – पेट का भरा हुआ महसूस होना , सीने में जलन होना, indigestion burping(डकार), मतली , उपरी पेट में दर्द या बैचेनी होना, खाना न पचना, इत्यादि.

बदहजमी – अपच के सरल घरेलू उपाय – How to cure Indigestion fast at home- findgyan.com
  • यदि आप बदहजमी या अपच की शिकायत से परेशान है तो सबसे पहले अदरक की एक गाँठ लेकर उसे कद्दूकस कर ले .उसमें फिर आधा चम्मच शहद मिला दे और चबा – चबा कर खायें. ऐसा आपको सुबह -शाम दिन में दो बार करना है. प्यास लगने पर आपको खूब पानी पीना है और मौसम सर्दी का हो तो थोडा कुनकुना गर्म पानी पियें. भोजन में आपको सिर्फ खिचड़ी या दलिया का सेवन करना है . फल खाने की इच्छा हो तो केवल पपीता या चीकू खाएं .खाना खाने के दो घंटे बाद ही आपको ठंडा पानी पीना है . अन्यथा बदहजमी या अपच ( Indigestion) की शिकायत दोबारा हो सकती है . प्यास लगने ही तजा पानी पी सकते है .
  • लौंग और हरद को दो कप पानी में उबालकर उसमे थोडा नमक मिला लें . इसका सेवन कुछ दिन नियमित करने से अपच का रोग दूर हो जाता है .
  • अपच की शिकायत हो तो आंवले का चूर्ण शहद में मिलाकर चाट ले . शहद न हो तो आप घी भी ले सकती है . घी अगर अच्छा न लगे तो आंवले के चूर्ण की फंकी बनाकर केवल पानी के साथ भी ले सकते है.
  • बदहजमी या अपच में आप इस नुस्के को तो बिलकुल ही आसानी से आजमा सकते है. आपको बेल की पत्तियां पीसकर उसका दस ग्राम रस निकल लेना है . इसमें फिर एक- एक ग्राम काली मिर्च पिस ले और सेंधा नमक मिलाकर पीजाएं . तीन – तीन घंटे बाद तीन बार आपको ये बेलपत्ती का रस पीना है , इससे जल्द ही आपका हाजमा सही हो जाएगा.

3 thoughts on “बदहजमी (इनडाईजेशन)का जादुई घरेलू उपाय, लक्षण | Cure Indigestion Fast at home in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.