Maa Durga Aarti: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी – माँ दुर्गा की आरती Lyrics, Durga Aarti Lyrics in hindi- Chaitra Navratri 2022

Maa Durga Jai Ambe Gauri Aarti Lyrics Hindi:

नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा करने का विशेष महत्व है। चैत्र नवरात्रि के समय माँ दुर्गा को खुश करने के लिए और घर में शांति लाने के लिए माँ दुर्गा जी की आरती का पाठ किया जाता है .

नवरात्रि में रोज सुबह-शाम मां दुर्गा की आरती करनी चाहिए। इससे हमारा मन भी शांत होता है और हमारे मन की दुविधा भी ख़त्म हो जाती है. आरती में शामिल होने वालों पर माँ दुर्गा का विशेष कृपा हो जाती है .

दुर्गा आरती के अगर आपके पास थोडा सा गाय का घी है तो उससे आप दीपक जलाइए वरना आप साधारण तेल या अगरबती से भी काम चला सकती है . जरूरी है हमारी मन की श्रृद्धा !

माँ दुर्गा आरती लिरिक्स (Lyrics)- जय अम्बे गौरी

Durga Aarti Lyrics in hindi

मां दुर्गा आरती (Maa Durga Aarti – Jai Ambe Gauri Lyrics Hindi)

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी।

तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिव री।। जय अम्बे गौरी,…।

मांग सिंदूर बिराजत, टीको मृगमद को।
उज्ज्वल से दोउ नैना, चंद्रबदन नीको।। जय अम्बे गौरी,…।
कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै।
रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै।। जय अम्बे गौरी,…।
केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्परधारी।
सुर-नर मुनिजन सेवत, तिनके दुःखहारी।। जय अम्बे गौरी,…।
कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती।
कोटिक चंद्र दिवाकर, राजत समज्योति।। जय अम्बे गौरी,…।
शुम्भ निशुम्भ बिडारे, महिषासुर घाती।
धूम्र विलोचन नैना, निशिदिन मदमाती।। जय अम्बे गौरी,…।
चण्ड-मुण्ड संहारे, शौणित बीज हरे।
मधु कैटभ दोउ मारे, सुर भयहीन करे।। जय अम्बे गौरी,…।
ब्रह्माणी, रुद्राणी, तुम कमला रानी।
आगम निगम बखानी, तुम शिव पटरानी।। जय अम्बे गौरी,…।
चौंसठ योगिनि मंगल गावैं, नृत्य करत भैरू।
बाजत ताल मृदंगा, अरू बाजत डमरू।। जय अम्बे गौरी,…।
तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता।
भक्तन की दुःख हरता, सुख सम्पत्ति करता।। जय अम्बे गौरी,…।
भुजा चार अति शोभित, खड्ग खप्परधारी।
मनवांछित फल पावत, सेवत नर नारी।। जय अम्बे गौरी,…।
कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती।
श्री मालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योति।। जय अम्बे गौरी,…।
अम्बेजी की आरती जो कोई नर गावै।
कहत शिवानंद स्वामी, सुख-सम्पत्ति पावै।। जय अम्बे गौरी,…।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.