aam ke fayde

आम को ऐसे ही फलों का राजा नहीं कहा जाता है. इसने यह उपाधि अपने सेहत से जुड़े फायदों से की वजह से प्राप्त किया है. आम के गुठली के बीज का अगर हम चूर्ण बनाकर , मधु में मिलाकर सेवन करते है तो बहुत लाभ मिलता है. hemorrhage (रक्तातिसार) में पत्रों का रस , मधु में मिलाकर, घी और थोडा दूध मिलाकर सेवन करने से सौ फीसदी फायदा मिलता है .Diabeites ( मधुमेह ) में आम के पेड़ की छाल का रस चार चम्मच , चुने का पानी – दोनों को सात दिन अगर आप नियमित तौर पर लेते है तो आपको बेहतरीन लाभ देखने को मिलता है और मधुमेह की कोई दवाई अलग से नहीं लेनी पड़ेगी.

आम के फायदे और नुकसान – findgyan.com

आम के बारे में (About Mango -full details in Hindi)

प्रचलित नाम – आम

प्रयोग योग्य अंग – पत्र ,छाल, पुष्प ,बीज, गोंद, पंचांग

स्वरूप – आम का एक बहुत बड़ा पेड़ होता है जिसकी शाखाएं फैली हुई होती है – इनके बहुत सघन पत्ते लगते है. इसके पुष्प छोटे-छोटे होते है. इसके फल पहले हरे होते है फिर जैसे पकने लगते है पीले हो जाते है.

स्वाद- मीठा -खट्टा

आम के फायदे (Mango Benefits in Hindi)

रक्तार्श और प्रदर में | Mango Benefits in Diabeites Hindi

आम की गुठली के बीज का चूर्ण बनाकर फिर उसमे मधु मिलाकर सेवन करने से फायदा होता है. hemorrhage (रक्तातिसार) में पत्रों का रस , मधु में मिलाकर, घी और थोडा दूध मिलाकर सेवन करने से सौ फीसदी फायदा मिलता है .Diabeites ( मधुमेह ) में आम के पेड़ की छाल का रस चार चम्मच , चुने का पानी – दोनों को सात दिन अगर आप नियमित तौर पर लेते है तो आपको बेहतरीन लाभ देखने को मिलता है और मधुमेह की कोई दवाई अलग से नहीं लेनी पड़ेगी. worm disease( क्रमिरोग )में आम की गुठली के बीज का चूर्ण के साथ मिलाकर चाटने से फायदा होता है.

स्वर भंग और कान की पीड़ा में आम के फायदे –

आम के पेड़ की छल का क्वाथ बनाकर , उसे फिर ठंडा करके – मधु में मिलाकर सेवन करने से फायदा होता है. Earache (कर्णशूल -कान की पीड़ा )में आम के फूल को पीसकर अरंड के तेल में उबालकर , फिर उसे ठंडा करके कान में एक बूंद डालने से आपको आराम मिलता है.


रेबीज (हडकवा ) rabies में आम के फायदे –

आम के पेड़ पर कुछ पुष्प गोल गांठ बन जाते है जिनको हमे इकट्ठा कर लेना है. अगर किसी को रेबीज हो जाता है तो उसको सूबह और शाम को इस पुष्प गाँठ को एक -एक चम्मच पानी के साथ लगातार सात दिन सेवन करना चाहिए. इसका लाभ भरपूर मिलता है.


पित्त दोष (Pitta Dosha) में आम के फायदे

पित्त दोष वाले लोगों को पेट में एसिडिटी और कब्ज (Acidity and Constipation ) की समस्या बनी रहती है. तो पित्त दोष होने पर हमारा खाना अच्छी तरह से डायजेस्ट नहीं हो पाता है. स्वस्थ रहने के लिए शरीर में पित्त का संतुलन होना बहुत जरूरी है. ऐसे में हमे ज्यादातर खाने में ठंडी और मीठी चीजों का सेवन करना चाहिए. आम से बेहतर ठंडी और मीठी चीज हो ही नहीं सकती.

रक्त पित्त में आम, जामुन की छल का चूर्ण बनाकर उसमे फिर मधु मिलाकर सेवन करना चाहिए.


सिर में रुसी ( Dandruff) में आम और हरड़ के फायदे –

बालो में dandruff रुसी होने पर , और सिर में फोड़े – फुंसी पर आम की गुठली और  हरड़ -इन दोनों का चूर्ण बनाकर दूध में धोंत कर सिर में लगाने से आराम मिलता है.


Aam khane ke fayde | आम खाने के अन्य फ़ायदे

  • आम के फल का रस एक बेहतरीन टॉनिक होता है.
  • आम – मधु के साथ खाने से खांसी , बुखार में लाभ होता है.
  • अगर किसी को हदयरोग हो तो 15 दिन तक आम रस का सेवन और इसके साथ बकरी का दूध पीने से लाभ होता है.
  • आमरस के शरबत से गले में हुए डिप्थेरिया ठीक होता है.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी – जरुर बताए…

2 thoughts on “आम के फायदे या नुकसान | Mango Benefits in Hindi 2022”
  1. […] संकल्प से सिद्धि योजना Hindi न्यू इंडिया मूवमेंट | sankalp se siddhi 2022 बदहजमी (इनडाईजेशन)का जादुई घरेलू उपाय, लक्षण | Cure Indigestion Fast at home in Hindi आम के फायदे या नुकसान | Mango Benefits in Hindi 2022 […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.